Home News National News स्वर्णिम भारत बस अभियान का शांतिवन में भव्य स्वागत

स्वर्णिम भारत बस अभियान का शांतिवन में भव्य स्वागत

0 91

शांति दूत बस अभियान पहुंचा आबू रोड, भव्य स्वागत
मूल्यनिष्ठ युवाओं का दल लोगों को स्वच्छता, महिला सशक्तिकरण और साक्षरता के लिए करेगा जागरूक

आबूरोड 16अक्टूबर, निसं। गुजरात के अहमदाबाद से 13 अगस्त को राष्ट्रव्यापी बस अभियान सोमवार को आबू रोड पहुंचा। ब्रह्माकुमारीज संस्था के युवा प्रभाग द्वारा आयोजित स्वर्णिम भारत अभियान का शांतिवन में संस्था के पदाधिकारियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। इसके पश्चात गॉंवों, गॉवों में लोगों को स्वच्छता, साक्षरता, महिला सशक्तिकरण, बेटी बचाओ, पर्यावरण जागृति तथा नशामुक्ति के प्रति लोगों को जागरूक करेगा।

इसके रवानगी युवा प्रभाग की राष्ट्रीय अध्यक्षा राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा कि वर्तमान समय भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि हमारा भारत देश स्वच्छता के क्षेत्र में पूरी दुनिया में नाम रोशन करे। इसी उदद्श्य को ध्यान में रखते हुए इस अभियान का शुभारम्भ किया गया है। यह बस अभियान तीन साल यानि 2020 तक भारत के कोने कोने तकरीबन एक हजार शहरों में लोगों में जागृति लायेगा तथा करीब दस हजार से ज्यादा कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।
16ABROP1

16ABROP2

16ABROP3

16ABROP4

कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज संस्था के महासचिव बीके निर्वेर ने इस संकल्प को दोहराया कि भारत में जब युवा जग जायेगा तभी भारत स्वर्ग बन जायेगा। इसके लिए युवाओं जागृति लाने की जरूरत है। इससे ही हमारा भारत में रामरज्य आयेगा। यह बस यात्रा मील का पत्थर साबित होगी। इस अवसर पर युवा प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजक बीके चन्द्रिका ने कहा कि आज युवाओ में तेजी से नशे की लत बढ़ती जा रही है। ऐसे में जरूरत है कि उन्हें इसके प्रति आगाह करें। यदि समय रहते हमने ऐसा नहीं किया तो आने वाली पीढ़ी हमें माफ नहीं करेगी। इसलिए अपने दायित्वों को पूरा करते हुए इसमें सहभागी बनना चाहिए। कार्यक्रम में युवा प्रभाग की मुख्यालय संयोजक बीके आत्म प्रकाश, शांतिवन के अभियन्ता बीके भरत, पर्यावरण विद मोहन सिंघल, कार्यक्रम प्रबन्धिका बीके मुन्नी, ईशू दादी, ज्ञानामृत के प्रधान समपादक, बीके आत्म प्रकाश समेत कई लोगों ने अपने अपने विचार व्यक्त कर अभियान यात्रियों को शुभकामनाएं दी। संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने अंत मे सभी वरिष्ठ लोगो ने बस को हरी झंडी दिखाकर उसे रवाना किया।