Home News National News Shantivan – शिवरात्रि महोत्सव देखने उमड़ी हजारों लोगों की भीड़, स्वर्ग की...

Shantivan – शिवरात्रि महोत्सव देखने उमड़ी हजारों लोगों की भीड़, स्वर्ग की सीन पर हर कोई हुआ मोहित

0 375
शिवरात्रि महोत्सव देखने उमड़ी हजारों लोगों की भीड़, स्वर्ग की सीन पर हर कोई हुआ मोहित रात्रि 11 बजे तक लोगों का लगा रहा तांता, बड़ी संख्या में लोगों ने व्यसन छोडऩे का लिया संकल्प आबू रोड, 5 मार्च, निसं। ब्रह्माकुमारीज संस्था के शांतिवन में शिवरात्रि महोत्सव मेले में हजारों लोागें का हुजुम उमड़ पड़ा। रात्रि 11 बजे तक लोगों की भारी भीड़ उमड़ती रही। जिले में पहली बार एक ही जगह हेल्थ, वेल्थ और हैप्पीनेस कार्निवाल तथा शिवरात्रि महोत्सव में अमरनाथ बाबा की गुफा में लोगों ने दर्शन कर मन्नते मांगी। इस अवसर पर माधव यूनिवर्सिटी के कुलपति ने कहा कि शिवरात्रि का पर्व बुराईयों को मिटाने का पर्व है। इसलिए परमात्मा का यह पर्व रात्रि के रूप में मनाते हैं। ब्रह्माकुमारीज संस्था के अतिरिक्त महासचिव बीके बृजमोहन ने कहा कि भले ही लोग आज परमात्मा शिव के सामने जाकर पूजा अर्चना करते हैं। लेकिन सही अर्थों में पूजा करने का विधि विधान नहीं जानते हंै। क्योंकि जब हम परमात्मा को दिल से याद करते है तब हमे परमात्मा से शक्ति मिलती है। आबू रोड की पार्षद तथा नगरपालिका की नेता प्रतिपक्ष नरर्गिस कायमखानी ने कहा कि मातृ शक्ति को इस संस्था ने दुनिया भर में स्थापित किया है। नारी किस तरह से एक समाज और परिवार का प्रतिनिधित्व करती है। इस संस्थान ने सिद्ध कर दिया है। इस अवसर पर बिजली विभाग के एक्सईन रंजीत मारू ने सभी को शुभकामनाएं देेते हुए कहा कि आज खुशी का दिन है कि हम परमात्मा के घर में इस विशाल मेले में आये हैं। इससे सशक्तिकरण में मदद मिलेगी। कार्यक्रम में कार्यक्रम कोआर्डिनेटर बीके भरत ने कहा कि यह मेला कई मायनों में आबू रोड तथा आसपास के लोगों के लिए जीवन में सकारात्कता के लिए अच्छा साबित होगा। इस अवसर पर पार्षद कांतिलाल, कांग्रेस सोशल मीडिया के संभाग प्रवक्ता आदिल अहमद ने भी अपने विचार व्यक्त किये। इस कार्यक्रम में रेंजर गजेन्द्र सिंह, बीके सुधीर, सहायक अभियन्ता, छगन लाल मीना, बीके सुधीर, बीके भानू, बीके अमरदीप, बीके कृष्णा, बीके चन्दा, अनूप सिंह, बीके कोमल समेत कई लोग उपस्थित थे। रंग विरंगी में नहाया स्वर्ग: शिवरात्रि महोत्सव में लगा स्वर्ग का नजारा रंग विरंगी रोशनी में नहा उठा। देवी देवताओं का रास, वहॉं की अर्थव्यस्था, कपड़े, रहन सहन और शिक्षा का चित्रण लोगों को मोह लिया। हजारों की संख्या में लोग अपने अपने आने का इंतजार करते रहे। हर कोई सेल्फी लेने के आतुर दिखा।