Home Authors Posts by admin

admin

784 POSTS 0 COMMENTS

0 14

मन को काबू करके ही खुद पर किया जा सकता है शासन – बागड़े
प्रशासकों का सम्मेलन सत्र शुरू, दीप प्रज्ज्वलित कर किया शुभारंभ

आबूरोड़ 18 नवम्बर निसं। ब्रह्माकुमारीज संस्थान के राजयोगा एज्यूकेशन एवं रिसर्च फाउंडेशन के प्रशासक सेवा प्रभाग की ओर से आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि विधान सभा के स्पीकर हरिभाउ बागड़े ने कहा कि निरंतर राजयेाग के अभ्यास से मन को काबू किया जा सकता है। इसके पश्चात ही हम खुद पर शासन करना सीख जायेंगे। योग, ध्यान-धारणा और एकाग्रता से ही मन को सुधारा जा सकता है। वे प्रशासकों के लिए आयोजित सम्मेलन में देशभर से आये प्रशासकों, प्रबन्धकों एवं कर्मचारियों को सम्बोधित कर रहे थे।
उन्होंने कहा कि चाहे प्रशासक हो, प्रबन्धक हो या कर्मचारी जब किसी से गलती हो जाये तो उसके बन्दर वेचैनी बढऩी चाहिए। इससे ही उसे सुधारने की शक्ति मिलेगी। स्वयं के मन को नियंत्रित करके स्वयं पर शासन करने से ही बेहतर प्रशासन हो सकता है। छत्रपति शिवाजी के सुशासन व्यवस्था को याद दिलाते हुए आगे कहा कि जो व्यक्ति अपने कर्म, बर्ताव को अच्छे ढंग से लोगों के हित के लिए कार्य करता है। वे नैसर्गिक न्याय के रूप में कार्य करता है। स्वयं शासन अनुशासन से कारोबार चलता है। गलती से अगर गलत व्यवहार हुआ तो सुधार लीजिए। कहना, करना और बोलना सुशासन है। पर प्रशासन सुशासन में लोगों का अधिक से अधिक कल्याण करना ही कुशल प्रशासन है।
ब्रह्माकुमारीज संस्थान के महासचिव बीके निर्वैर ने कहा कि जो सच्चाई, नि:स्वार्थ और ईमानदारी से काम करते हैं वे जनता के बहुत प्रिय बन जाते हैं। और जिन्होंने अपने जीवन का लक्ष्य जन-जन की सेवा में लगा दिया, अपने संकल्प, श्वास और समय विश्व कल्याण के लिए समर्पित कर दिया। वहीं बेहतर प्रशासन है। प्रशासन में साफ-सुथरे चरित्र की आवश्यकता है। भारतीय इतिहास की महान विभूतियों में आध्यामिकता कूट-कूट कर भरी हुई थी। जहाँ उमंग है वहाँ सहयोग है।
उड़ीसा के पूर्व मुख्य सचिव तरूण कांति मिश्रा ने अपना अनुभव बताते हुए कहा कि हमें सरकार व जनता के बीच सामंजस्य बनाकर कार्य करना चाहिए। ओम् शांति रिट्रट सेंटर व प्रशासन प्रभाग की डायरेक्टर व चेयरपरसन बीके आशा ने कहा कि मुझे क्या करना है? मेरा जनता के साथ इंटरऐक्शन कैसा है? अगर इन दो बातों पर ध्यान दें तो एक अकेला व्यक्ति अपने जीवन में बहुत कुछ कर सकता है। लेकिन इसके लिए उसे अपने जीवन में आध्यात्मिक मूल्यों को शामिल करना होगा।

0 57

80th Anniversary of Brahma Kumaris at Secunderabad and had conducted a public program on the 4th of November 2017. Over 1000 participants from all walks of life were a part of the celebrations of this event. DSC_8937

The program was presided by Rajayogi B.K.Brijmohan Ji, Additional Secretary General, Brahma Kumaris, Mount Abu
Rajayogi B.k.Mruthyunjaya, Executive Secretary, Brahma Kumaris, Mount Abu and Rajayogini B.K.Chandrika, National Co-ordinator, Youth Wing, RERF, Brahma Kumaris.

Bro. Shri. K.Swamy Goud, Chairman, Telangana Legislative Council and Justice V.Eshwaraiah, Former Chairperson, National Commission for BC, Govt. of India were the featured speakers.Both of them expressed their happiness in being a part of this great event and conveyed their best wishes to the Organisation for reaching further milestones like this.The program concluded by felicitation of dignitaries from media and community.

This program was followed by a one day “continuation program” with the focus on “Shrimad Bhagavat Gita” on the 5th of November 2017 which was presided by Honble Justice V.Ramasubramanyam and other distinguished guests.

0 55


Sashakt Bharat Navnirman Adhytmic Mahotsav- A Mega Spiritual Event at Sambalpur [ 29-10-2017

To celebrate the wonderful occasion of completion of 80th founding Anniversary of the organization Brahma Kumaris Sambalpur organized a mega spiritual event cum cultural celebration on 29th October 2017. The event which was organized at PHD Ground was attended by more than 50 thousand people from different parts of Odisha and as well India. The program was inaugurated by lighting the candle giving the message of lighting the self inside.
Most respected Dadi Janki Ji, 102 year young Chief of the organization blessed this mega gathering. In her blessing she shared how Gods Wisdom helps us develop peace and happiness inside. She invited everyone to understand the true meaning omshanti, know the self and the purpose for which we are here
· In her beautiful address cum conversation with the audience Her Excellency Governer of Jharkhand Sister Draupadi Murmu shared her experiences of her spiritual journey. How meditation helped her to improve her approach towards life. She highlighted why it is important to develop a spiritual wisdom and practice meditation every day for a social and mental well being.

· Rajyogini Parbati Didi, Sub Zone Incharge, Brahma Kumaris Sambalpur thanked Dadi Janki and Siste Hansa to bless the the soil of Sambalpur with her presence and shared the journey of Brahma Kumaris in odisha. How it touched life of people and brought a positive change.

· Prof. EV Swaminathan – Motivational Speaker, Mumbai inspired the gathering through his talk on the topic “Wah Zindagi Wah”

· Dr. Shrimant Sahu, Diabetologist, Mount Abu helped the audience understand “10 Golden Rules of Healthy Life Style”

· BK Sister Shreya inspired everyone through her talk on “Happy Living”. She focused how we can keep positive approach during time of conflicts.

· Sister Raseswari Panigrahi – MLA Sambalpur welcomed dadi Ji to Sambalpur on behalf of the people of Sambalpur.

· Shri Prasanna Acharya, Member of Parliament, Loksabha thanked Dadji ji and other dignitaries to bless the people of odisha with their presence.

· Rajyogini Kamlesh Didi, , Sub Zone Incharge, Brahma Kumaris Cuttack shared the journey of Brahma Kumaris in odisha. How it touched life of people and brought a positive change.

Following Cultural groups presented wonderful performances and please everyone present.
· Natrang Academy, Pune

· Ukia Group, Sambalpur

· Famous Playback Singer Sailbhama and Bibhu Prasad Nanda

A souvenier “GYAN JHARANA”was released by Respected Dadi Janki and HE Governer of Jharkhand Smt. Draupadi Murmu. BK Deepa Behn and BK Vishal Bhai conducted the program with very ease.

सशक्त भारत नवनिर्माण आध्यात्मिक महोत्सव- एक विशाल जन समागम- संबलपुर- 29 अक्टूबर, 2017

ब्रह्माकुमारीज के ८० वर्ष की पूर्ति के अवसर पर संबलपुर में एक विशाल आध्यात्मिक महोत्सव का आयोजन किया गया | यह कार्यक्रम संबलपुर के पि एच दी मैदान में आयोजित किया गया, जहाँ 50,000 से भी ज्यादा भाई- बहनें ओडिशा के विभिन्न प्रान्तों तथा पुरे भारत के भी विभीन्न स्थानों से एकत्रित हुए थे | कार्यक्रम का उद्घाटन आत्म जाग्रति का सन्देश देते हुए दीप प्रज्वलन से हुआ |

कार्यक्रम में ब्रह्माकुमरिज की मुख्य प्रशासिका , आदरणीय दादी जानकीजी ने विशाल जन समागम को संबोधित करते हुए कहा की , जीवन में सुख और शांति की प्राप्ति के लिए ओम शांति के महामंत्र को समझना जरुरी है, यह महामंत्र हमें- में कौन और मेरा कौन यह अनुभव करता है |
कार्यक्रम की मुख्य-अतिथि ​​झारखण्ड की महामहिम राज्यपाल, श्रीमती द्रौपदी मुर्मू जी ने अपने संबोधन में सभी के सम्मुख अपने जीवन की सुखद आध्यात्मिक यात्रा की अभिव्यक्ति की | उनहोंने सभी को यह बताया की कैसे राजयोग के अभ्यास से उन्हें जीवन की सच्ची समझ आई | उन्होंने वर्त्तमान के परिस्थिति में ईश्वरीय ज्ञान तथा सहज राजयोग के महत्त्व को सभी के सामने जाहिर किया |
ब्रह्मकुमारिज संबलपुर सब-जोन की सब-जोन प्रभारी राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी पार्वती दीदी ने आदरणीया दादीजी तथा हंसा बहनजी का स्वागत तथा धन्यवाद करते हुए कहा की , आज ये संबलपुर धरती दादीजी के पावन उपस्थिति से धन्य धन्य होगी | साथ साथ उन्होंने संबलपुर तथा पुरे पश्चिम ओडिशा में ईश्वरीय सेवाओं की सफल यात्रा को सभी के सामने व्यक्त किया |
मुंबई से आये हुए प्रो. ई. वी. स्वामीनाथन ने “वाह जिन्दगी वाह ” विषय पर अपने प्रेरणादायक बोल से सभी को उत्साहित किया |
माउन्ट आबू से आये हुये मधुमेह विशेषज्ञ डा श्रीमंत कुमार साहू ने “स्वस्थ जीवन के दस सुनहरे नियम” विषय पर स्वस्थ जाग्रति लायी |
मुम्बई से आई हुई बी के श्रेया ने “खुशनुम: जीवन” के बारे में बताते हुए कहा की जीवन के हर परिस्थिति में जितना ज्यादा हम पॉजिटिव रहेंगे उतना हम खुश रहेंगे |
सम्बलपुर की विधायिका बहन डा रासेश्वरी पाणिग्राही ने सम्बलपुर के सभी निवासियों की तरफ से दादीजी का स्वागत किया |
लोकसभा सदस्य भ्राता प्रसन्ना आचार्य जी ने भी दादीजी का धन्यवाद करते हुए संबलपुर वासियों को शुभकामनायें दी |
ब्रह्मकुमारिज कटक सब-जोन की सब-जोन प्रभारी राजयोगिनी कमलेश दीदीजी ने भी अपनी शुभकामनायें देते हुए , ओडिशा में ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की सेवा द्वारा आये हुये सकारात्मक परिवर्तन के बारे में सभी को बताया |

0 100

Candle Lighting by Shivani Bahen, Vijaylaxmi Bahen, Surender Didi Arti Bahen, Parnita Bahen, Radha Bahen & Others

Audiance 2 New

कालीन के साथ अब शांति होगी भदोही की पहचान – शिवानी
 
भदोही, यूपी। ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय के नवनिर्मित विश्व शांति भवन का उद्घाटन उत्तर प्रदेश के माननीय राज्यपाल श्री राम नाईक के कर कमलों द्वारा हुआ। भवन के उद्घाटन के इस शुभ अवसर पर इंद्रा मील स्थित, भरत मौर्या की कंपनी में पब्लिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसका दीप प्रज्ज्वलित कर उद्घाटन करते हुए अंतर्राष्ट्रीय राजयोग शिक्षका ब्र.कु.शिवानी ने कहा कि जैसे भदोही की पहचान कालीन से है और उसे भारत ही नहीं बल्कि सात समुंदर पार विदेशों में भी ख्याति प्राप्त है तो वैसे ही इस भवन के नाम के अनुरूप इसकी पहचान दुनियाभर में दिलानी है। इसके लिए जरूरी है कि हमें अपने गुस्से को त्यागते हुए शांति को अपनाना होगा। हमें वैसा शांति चाहिए जो भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में जाना जाए। लोग कहें कि भदोही में सिर्फ कालीन ही नहीं बल्कि शांति भी है। किसी के चेहरे पर तनाव तो दूर शिकन तक नहीं है। लोग दूर-दूर से कालीन ही नहीं बल्कि शांति की भी खोज में आएं और कहें वाकई भदोही के लोग शांतिप्रिय हैं। ऐसा होने पर ही विश्व शांति भवन की सार्थकता होगी। क्योंकि विश्व शांति भवन एक स्थान नहीं, बल्कि विश्व में शांति लाने वाली आत्मा है। हम जहां-जहां होंगे हमारे संकल्पों से शांति के प्रथम पुंज हमारे घर में, ऑफिस में और हमारे शहर में फैल जाएंगे। इसके लिए प्रयास नहीं पक्का संकल्प लेने होंगे, तभी हम विश्व में शांति ला पाएंगे। 
 
खुश रहने के लिए दुआएं कमाएं
 
अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वक्ता ब्र.कु.शिवानी ने भदोही के लोगों को खुश रहने का मंत्र दिया। कहा, खुश रहने के लिए सात्विक भोजन करना चाहिए। क्योंकि जैसा अन्न हम ग्रहण करेंगे वैसा ही हमारा मन और वैसा ही हमारा तन भी होता है। सामाजिक ताना-बाना कमजोर न हो इसके लिए दुआएं कमाएं। उन्होंने सत्कर्म के साथ धन कमाने की जरूरत बताई। कहा, किसी को दु:ख देकर कमाएं गए धन से लक्ष्मी की कृपा हासिल नहीं होती है। पैसा आने के बावजूद मन की शांति खो जाती है। रिश्तों में टकराहट आने लगती है। इनसे बचने का एकमात्र उपाय सत्कर्म है। 
 
ध्यान से मिलता है आत्मा को बल
 
ब्रह्माकुमारी शिवानी बहन ने ध्यान ध्यान करने के सरल उपाय भी सिखाए। कहा राजयोग के द्वारा मन में होने वाली हलचलों पर नियंत्रण पाया जा सकता है। जीवन में मेहनत का कोई विकल्प नहीं है। सफलता के लिए लगन और अनुशासन दोनों जरूरी है। ध्यान से आत्मा शक्तिशाली बनती है। जब आत्मा शक्तिशाली होगी तो किसी भी चुनौती को सफलता में बदला जा सकता है। जो भी व्यक्ति हर रोज ध्यान करेगा उसकी आत्मा शक्तिशाली होगी। शक्तिशाली आत्मा इंसान को सफलता की ऊंचाईयों तक ले जाती है। बहन शिवानी इस बात से सहमत नहीं दिखी कि ध्यान व अध्यात्म के लिए किसी विशेष जगह या देश देश महत्वपूर्ण होता है। उनका यह मानना है कि यह इंसान के संस्कारों में होता है। जिस भी इंसान की इसमें रूचि होगी, वो इसके प्रति आकर्षित होगा। संसार में तेजी से हो रहे बदलाव के बारे में ब्र.कु.शिवानी बहन ने कहा कि परिवर्तनों का होना अच्छी बात है लेकिन चीजों के बदलाव में इंसान के सिद्धांत नहीं बदलने चाहिए। 
 
शांति की दूत बनी शिवानी दीदी
 
जीवन की कठिन समस्याओं को सहज समाधान प्रदान कर अपने विद्वतापूर्ण व्याखानों से मन के भावों को उत्साहित करने वाली बहन शिवानी दीदी महाराष्ट्र के पुणे शहर से 1995 में इलेक्ट्रॉनिक इंजीनियरिंग की है। उन्होंने यहां से गोल्ड मेडल भी प्राप्त की है।  वहीं से शिवानी बहन का अचानक अध्यात्म की ओर झुकाव हुआ और तभी से ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय से जुड़ गई। तभी से देश-विदेश में प्रवचन कर रही हैं।  बहन शिवानी गत 20 वर्षों से ब्रह्माकुमारी संस्थान से जुड़कर वर्तमान परिपेक्ष्य में आध्यात्मिक जीवन को उसके चरम तक ले जाने के लिए देश में नहीं बल्कि विदेशों में भी अपनी विशेष पहचान बना चुकी हैं। उनके प्रवचनों का प्रसारण आस्था, इंडिया टूडे एवं संस्कार आदि चैनलों में निरंतर हो रहा है।

Audiance 1

0 57


अच्छे समाज निर्माण के लिए जरूरी है जीवन में मानवीय मूल्य और अध्यात्म- सत्येन्द्र जैन
राजयोग का अभ्यास से होता है सदगुणों का विकास – दादी

आबूरोड़ 28 अक्टूबर, निसं। मूल्य और आध्यात्म को अगर हम जीवन में धारण करें तो ही सुख, शांति और स्वथ्य रह सकते हैं। यदि अच्छा समाज बनाना है तो उसके लिए प्रत्येक व्यक्ति को जीवन में नैतिक मूल्य और अध्यात्म अपनाने की जरूरत है। यह बात ब्रह्माकुमारीज संस्थान शांतिवन परिसर में समाज सेवा प्रभाग द्वारा आयोजित सम्मेलन में दिल्ली से आये स्वाथ्य मंत्री श्री सत्येन्द्र जैन ने व्यक्त किये।

आगे उन्होंने कहा कि अपने मन को अगर हम दूसरो के लिए समर्पित करेगें तो ही हमारे जीवन में मूल्य और आध्यात्म आ सकता है। मूल्य और आध्यात्म से ही हम स्वथ्य और सुन्दर जीवन जी सकते हैं। आज हर किसी को मूल्य शिक्षा की आवश्यकता है। मूल्य और आध्यात्म की शिक्षा का सच्चा ज्ञान हमें ब्रह्माकुमारीज संस्था पूरे पूरे विश्व में फैला रही है। चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि आज समाज सेवा का भी रूप बदल गया है लोग कहीं ना कहीं स्वार्थवश भी सेवा का नाम दे देते है। इन चीजों से बचने की जरूरत है।

ब्रह्माकुमारीज संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा की स्वयं की पहचान से ही समाज में आपसी सौहार्द्र और भाईचारा बढ़ेगा। क्योकि बिना आपसी सौहाद्र के अच्छे समाज का निर्माण मुश्किल है। इसके लिए खुद को परमात्मा से जोड़े तो परमात्मा पिता के सारे ज्ञान, गुण और विशेषताएँ स्वयं में आने लगेगी।

महाराष्ट्र के पूर्व वित्तमंत्री हर्ष वर्धन पाटिल ने कहा कि आज समाज में मूल्यनिष्ठ शिक्षा और आध्यात्म की कमी से आज हर कोई में बुराईयाँ और तनाव बढ़ता जा रहा है, जिसके कारण आज मनुष्य में लालच, ईष्र्या, क्रोध जैसी बुराईयाँ उत्पन्न हो रही है। जिसको सिर्फ आध्यामिक ज्ञान के द्वारा ही समाप्त किया जा सकता है। हम सभी मूल्यों को अपने जीवन में धारण करगें तो एक बेहतर भविष्य बना सकते है।

ब्रह्माकुमारीज संस्था के महासचिव बीके निर्वेर ने लोगों से अपील की कि किसी भी हालत में समाज की व्यवस्था को बिगडऩे ना दें। सभी को मिलकर युवा पीढ़ी को संस्कारित करने और एक मूल्यनिष्ठ समाज के बारे में विचार करना चाहिए। परमात्मा का अवतरण ही इस महान कार्य के लिए हुआ है। समाज के लोग हमें देख कर स्वयं ही धारण करने लगेंगे।

नेपाल से आये नेपालीज आर्मी इंस्टीट्युट के वाइस प्रीन्सीपल डॉ. तारा मन अमात्य ने कहा कि आज विश्व में नकारात्मक उर्जा इतनी तेजी से फैल रही है कि लोगों में मूल्यों की धारणा नहीं हो पा रही है। स्पिरिचुअलिटी से ही समाज में मूल्यों की धारणा हो सकती है।

0 138

IMG-20171016-WA0014
प्रजापिता ब्रह्माकुमारिज ईश्वरीय विश्वविद्यालय की जग प्रख्यात प्रवक्ता बी.के. शिवानी का “टेंशन फ्री लाइफ स्टाइल” विषय पर वाशी नवी मुंबई के सिड्को एक्स्हिबीशन सेंटर के भव्य हॉल में रविवार दिनांक 15 अक्टूबर २०१७ को शाम ५ बजे से ८ के बिच 6000 से अधिक मात्रा में आये लोगो के सन्मुख आयोजन किया गया |

कार्यक्रम में सिड्को के सुपरितेडेंट इंजिनियर भ्राता गिरी, सेंट मेरी चर्च के माननीय फाधर अब्राहम जोशेफ़, आ.बहन मंदा ताई म्हात्रे (MLA), आ. भ्राता R.S रौतेला जी (DIG – CRPF), भ्राता D.S यादव (चेयरमैन – याक मरीन अकादेमी), बहन वैशाली हंग्रेकर (जज नवी मुंबई ​सेशन कोर्ट ), आ. बहन शुभदा नायक (वाईस प्रिन्सिपल मोडर्न कॉलेज), भ्राता सुनील चौहान (IAS ऑफिसर), पनवेल महानगर पालिका के महापौर, सभापति, तथा अनेक नगर सेवक और गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे |

सभी महेमानो की उपस्थिति में दीप प्रजवलन द्वारा कार्यक्रम की शुरुआत की गयी|

इस अवसर पर सिड्को के सुपरितेडेंट इंजिनियर भ्राता गिरी ने सिड्को की तरफ से सभी का दिल से स्वागत किया | सेंट मेरी चर्च के माननीय फाधर अब्राहम जोशेफ़ जी ने ब्रह्माकुमारिज के कार्य को खूब सराहा | और कहा की आज के भौतिकता के युग में इस अध्यात्मिक ज्ञान की बहुत आवश्यकता है | आ.बहन मंदा ताई म्हात्रे ने कहाँ की संस्था के साथ उनका पिछले ३० साले से स्नेहपूर्ण रिश्ता है | संस्था का कार्य बढ़ता हुआ देख वे बहुत खुश है | संस्था की महाराष्ट्र व् आँध्रप्रदेश जोन संचालिका आ. संतोष दीदीजी ने अपने आशीर्वचन में कहा की आज मनुष्य अपने विचारो से ही अधिक दुखी है | अपने विचारो को भावनाओ को शुभ और श्रेष्ठ बनाने से हम सुखी होंगे |
सभी महेमानो को ईश्वरीय सौगात एवं शाल देकर सन्मानित किया गया|

कार्यक्रम की मुख्य प्रवक्ता आ.बहन शिवानीजी ने स्ट्रेस का कारण बताया की हम सारा दिन दुसरो से अपेक्षाए रखते है, इसलिए हताश होते है| इसलिए एक्स्पेकटेसन के बजाए अटेंशन रखे, तोह टेंशन फ्री हो जाएँगे | हम पैसे कमाने का लक्ष्य रखते है, लेकिन जीवन में हैप्पीनेस, ख़ुशी और आनंद भी कमाने का लक्ष्य रखे | उसके लिए अपने कर्म सुखदायी बनाएँ |

IMG-20171017-WA0001

IMG-20171017-WA0002

IMG-20171017-WA0003

IMG-20171017-WA0004

IMG-20171017-WA0005

IMG-20171017-WA0006

0 90

शांति दूत बस अभियान पहुंचा आबू रोड, भव्य स्वागत
मूल्यनिष्ठ युवाओं का दल लोगों को स्वच्छता, महिला सशक्तिकरण और साक्षरता के लिए करेगा जागरूक

आबूरोड 16अक्टूबर, निसं। गुजरात के अहमदाबाद से 13 अगस्त को राष्ट्रव्यापी बस अभियान सोमवार को आबू रोड पहुंचा। ब्रह्माकुमारीज संस्था के युवा प्रभाग द्वारा आयोजित स्वर्णिम भारत अभियान का शांतिवन में संस्था के पदाधिकारियों द्वारा भव्य स्वागत किया गया। इसके पश्चात गॉंवों, गॉवों में लोगों को स्वच्छता, साक्षरता, महिला सशक्तिकरण, बेटी बचाओ, पर्यावरण जागृति तथा नशामुक्ति के प्रति लोगों को जागरूक करेगा।

इसके रवानगी युवा प्रभाग की राष्ट्रीय अध्यक्षा राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा कि वर्तमान समय भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का सपना है कि हमारा भारत देश स्वच्छता के क्षेत्र में पूरी दुनिया में नाम रोशन करे। इसी उदद्श्य को ध्यान में रखते हुए इस अभियान का शुभारम्भ किया गया है। यह बस अभियान तीन साल यानि 2020 तक भारत के कोने कोने तकरीबन एक हजार शहरों में लोगों में जागृति लायेगा तथा करीब दस हजार से ज्यादा कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे।
16ABROP1

16ABROP2

16ABROP3

16ABROP4

कार्यक्रम में ब्रह्माकुमारीज संस्था के महासचिव बीके निर्वेर ने इस संकल्प को दोहराया कि भारत में जब युवा जग जायेगा तभी भारत स्वर्ग बन जायेगा। इसके लिए युवाओं जागृति लाने की जरूरत है। इससे ही हमारा भारत में रामरज्य आयेगा। यह बस यात्रा मील का पत्थर साबित होगी। इस अवसर पर युवा प्रभाग की राष्ट्रीय संयोजक बीके चन्द्रिका ने कहा कि आज युवाओ में तेजी से नशे की लत बढ़ती जा रही है। ऐसे में जरूरत है कि उन्हें इसके प्रति आगाह करें। यदि समय रहते हमने ऐसा नहीं किया तो आने वाली पीढ़ी हमें माफ नहीं करेगी। इसलिए अपने दायित्वों को पूरा करते हुए इसमें सहभागी बनना चाहिए। कार्यक्रम में युवा प्रभाग की मुख्यालय संयोजक बीके आत्म प्रकाश, शांतिवन के अभियन्ता बीके भरत, पर्यावरण विद मोहन सिंघल, कार्यक्रम प्रबन्धिका बीके मुन्नी, ईशू दादी, ज्ञानामृत के प्रधान समपादक, बीके आत्म प्रकाश समेत कई लोगों ने अपने अपने विचार व्यक्त कर अभियान यात्रियों को शुभकामनाएं दी। संस्था के वरिष्ठ पदाधिकारियों ने अंत मे सभी वरिष्ठ लोगो ने बस को हरी झंडी दिखाकर उसे रवाना किया।

0 70
आबू रोड, 10 अक्टूबर,   पर्यावरण की दृष्टि से इको फ्रेन्डली, बेहतरीन इलीवेशन, पानी, बिजली के सुरक्षित ब्रह्माकुमारीज संस्था द्वारा निर्मित मनमोहिनी वन तथा आनन्द सरोवर को इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउन्सिल की ओर से ग्रीन बिल्डिंग का सम्मान मिला है। यह अवार्ड जयपुर के एक होटल में आयोजित कार्यक्रम में दिया गया। इस अवार्ड के लिए ब्रह्माकुमारीज संस्था के मुख्य अभियन्ता बीके भरत को दिया।
ब्रह्माकुमारीज संस्था का मनमोहिनीवन तथा आनन्द सरोवर परिसर में करीब पांच हजार से भी ज्यादा पौधे तथा फल फूल वाले वृक्ष लगाये गये हैं। इसके साथ ही बाग बगीचे, पानी, निकास  तथा बिजली एवं फायर सेफ्टी की बेहतरीन व्यवस्था है। सात हजार आवासीय इस बिल्डिंग का निर्माण पांच वर्ष पूर्व हुआ था। ब्रह्माकुमारीज पहला आध्यात्मिक संस्थान है जिसके द्वारा निर्मित दो भवनों को इस अवार्ड से नवाजा गया है। 
यह अवार्ड इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउन्सिल के अध्यक्ष वी सुरेश, इंडियन ग्रीन बिल्डिंग रेसिडेन्सियल सोसायटी के उपाध्यक्ष माला सिंह, आईबीसी जयपुर के अध्यक्ष जैमिनी ओबेराय तथा उपाध्यक्ष आनन्द मिश्रा ने बड़े समारोह में यह अवार्ड प्रदान किया। उन्होंने उम्मीद जताई कि ब्रह्माकुमारीज संस्थान लगातार इस क्षेत्र में कार्य करता रहेगा। जिससे पर्यावरण की रक्षा की जा सके। 
10ABROP1 (3) 53338614
hqdefault (1)

0 74
 1st Oct. 2017, International Senior Citizen Day was celebrated at Gyan Mansarovar, Panipat from 10 a.m to 1 p.m.  About 1000 Senior Citizen participated in this program.
             Mr. Nayab Saini, Labour Minister Haryana was Chief Guest who appealed to respect the seniors in society.
             Dr. Mahesh, M.B.B.S, Post Graduate Diploma in Geriatric Medicine, G.V Modi Hospital, Shantivan was the keynote speaker who explained very well all problems of senior citizens  & their respective solution.
            In the beginning, the Group of girls welcomed all the guests with Haryanvi  Dance.
2 AAC_3478 AAC_3606
            B.k Bharat Bhushan, Director Gyan Mansarovar, Panipat explained the activities being done at Gyan Mansarovar & inspired all senior citizens with words of wisdom.
             B.k Sarla Didi, Circle Incharge, Panipat conducted Meditation & expressed blessings.

0 88

कुरुक्षेत्र ,विश्व शान्ति धाम में रविवार को “शाश्वत यौगिक खेती “का कार्यक्रम आयोजित किया गया इस कार्यक्रम का उद्देश्य किसानो को सशक्त बनाना है…इस कार्यक्रम में 600 से ज्यादा किसानो ने शाश्वत यौगिक खेती और जैविक खेती के बारे में जाना हमें रासायनिक खादों का प्रयोग नहीं करना चाहिए.

कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप –प्रज्ज्वलन से किया. जिसमे माउंट से पधारे राजयोगी भ्राता राजेंदर प्रसाद  जी,   मुख्य अतिथि ‘माननीय आचार्य देवव्रत जी   (महामहिम राज्यपाल ,हिमाचल प्रदेश) ,राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी राज बहन जी (सब जोन इन्चार्ज,अमृतसर),डा.वजीर सिंह (कृषि  विशेषज्ञ,कुरुक्षेत्र),डा. हरिओम (संयोजक –कृषि विशेषज्ञ),राजयोगिनी सरोज दीदीजी, बी.के.सुदर्शन उपस्थित थे.

DSC_1720 (1) DSC_1651 DSC_1702 (2)

मुख्य अतिथि ‘माननीय आचार्य देवव्रत जी (महामहिम राज्यपाल ,हिमाचल प्रदेश) – ने अपने वक्तव्य कहा कि जीरो बजट प्राकृतिक कृषि के प्रति जागरूक होने से ही किसानो को आर्थिक लाभ मिलेगा इससे पर्यावरण और जल प्रदूषण कम होने के साथ-साथ भूमि की   पीढ़ी को उर्वरा जमीन देने तथा स्वस्थ समाज कीरचना के लिए हमे शून्य लागत प्राकृतिक कृषि को अपनाना चाहिए देसी नसल की गाय का पालन कर एक एक गाय  से 30 एकड़  जमीन में कृषि की जा सकती है.

रविवार को ब्रह्माकुमारी  कुरुक्षेत्र “विश्व शान्ति धाम “ प्राकृतिक एव शाश्वत यौगिक खेती  विषयक सेमीनार में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे जीरो बजट का  वर्णन लरते हुए बताया की जीरो बजट में बहर से कुछ भी नही खरीदना होता उन्होंने शाश्वत यौगिक खेती के क्षेत्र में ब्र्हमाकुमारी के माध्यम से किए जा रहे प्रयासों कि भी मुक्तकंठ से सराहना की.

राजयोगी भ्राता राजेंदर प्रसाद (राजू भाई)  ( माउंट आबू राजस्थान)-  से पधारे  मुख्य वक्ता के रूप में अपने वक्तव्य में “शाश्वत यौगिक खेती “ के बारे में बताया की. वर्तमान में  अनेक रसायनों व कीटनाशको के प्रयोग से धरती माँ कि शक्ति समाप्त होती जा रही है उससे उत्पन्न होने वाले फल –सब्जियों व अन्न स्वास्थ्य के लिय हानिकारक  है ऐसे समय में  ब्रह्माकुमारी के ग्राम विकास प्रभाग (विंग ) के माध्यम वर्ष 2007 में न्य प्रोजेक्ट बनाया गया जिसका नाम शाश्वत यौगिक खेती “कुछ दिन पूर्व भारत के कृषि मंत्री दिल्ली विज्ञानं भवन में किसानो व वैज्ञानिको कि पुरे देश में शाश्वत यौगिक खेती के लिए अभियान चलाने को कहा जिससे किशन सशक्त बनेगा और साथ के साथ बताया कि हमे राजयोग का अभ्यास करना चाहिएं जिससे हमारे विचार शुद्ध होते है.

राजयोगिनी राज बहन जी(अमृतसर)-सभी अतिथियों व सभी के प्रति शुभ कामनाए दी खा कि अन्न का हमारे मन पर बहुत गहरा असर पड़ता है अदि हम सात्विक  अन्न का ग्रहण करेगे ,तो हममे सतोगुण कि वृद्धि होगी हमारे पूर्वज प्रकृति कि पूजा किया करते उस समय प्रकृति सतो प्रधान होती थी पुरुष ,प्रकृति और परमात्मा के खेल में पुरुष परमात्मा से शक्ति ले कर प्रकृति को सतोप्रधान बना सकता है.

डा.वजीर सिंह (कृषि  विशेषज्ञ,कुरुक्षेत्र),-ने कहा कि हम जो खा रहे ,वह जहरयुक्त है हमें जौविक खेती  को अपनाना होगा और साथ के राजयोग के अभ्यास से अपने मन को शुद्ध बनाना होगा.

डा. हरिओम (संयोजक –कृषि विशेषज्ञ), की गुरुकुल कुरुक्षेत्र में जो पद्दति अपनाई जा रही है अध्तायात्मिकता को अपनाना  जरूरी है बिना अध्यात्म के हमारे विचार शुद्ध नहीं हो सकते है.

ब्रह्माकुमारी विश्व शान्ति धाम कुरुक्षेत्र कि प्रभारी  राजयोगिनी सरोज दीदी जी ने संस्था की गतिविधियों का विवरण किया. बी.के .हरबंस सिंह ने अजोला ने सभी मेहमानों व किसानो का धन्यवाद  किया.

बी.के .सुदर्शन ने मंच संचालन किया. कुरुक्षेत्र ,विश्व शान्ति धाम में रविवार को “शाश्वत यौगिक खेती “का कार्यक्रम आयोजित किया गया  कार्यक्रम का शुभारम्भ दीप –प्रज्ज्वलन से किया जिसमे माउंट से पधारे राजयोगी भ्राता राजेंदर प्रसाद  जी, मुख्य अतिथि ‘माननीय आचार्य देवव्रत जी   (महामहिम राज्यपाल हिमाचल प्रदेश) राजयोगिनी ब्रह्माकुमारी राज बहन जी (सब जोनइन्चार्ज,अमृतसर),डा.वजीर सिंह (कृषि  विशेषज्ञ,कुरुक्षेत्र),डा. हरिओम(संयोजक –कृषि विशेषज्ञ),राजयोगिनी सरोज दीदीजी,बी.के.सुदर्शन उपस्थित थे.