Home News
news

भौतिक, आर्थिक के साथ सांस्कृतिक तरक्की की जरूरत- कोहली देशभर के शिक्षाविद उच्च माध्यमिक शिक्षकों के अधिवेशन में जुटे आबू रोड, 20 मई, निसं। आज हम दो राहे पर खड़े हैं। एक तरफ भौतिक और आर्थिक तरक्की है तो दूसरी ओर सामाजिक एवं सांस्कृतिक विकास। कई बार ऐसा लगता है कि कहीं हम भौतिक तथा आर्थिक तरक्की में सांस्कृतिक तरक्की कहीं भूल ना जायें। इसलिए भौतिक और आर्थिक तरक्की के साथ सामाजिक और सांस्कृतिक तरक्की की जरूरत है। उक्त उदगार गुजरात के राज्यपाल ओम प्रकाश कोहली ने व्यक्त किये। वे ब्रह्माकुमारीज संस्थान के शांतिवन में उच्च माध्यमिक शिक्षकों के अधिवेशन में जुटे देशभर के हजारों शिक्षाविदों को सबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि सिर्फ रोजगार का अवसर पैदा करना या दिलाना ही केवल शिक्षा का स्तर नहीं होना चाहिए। बल्कि सामाजिक जिम्मेदारी के तहत एक ऐसे व्यक्ति का निर्माण भी होना चाहिए जो आज के समय के लिए जरूरत है। केवल शब्द का ज्ञान प्राप्त करना ही शिक्षा का मकसद नहीं होना चाहिए। शिक्षा का मतलत सर्वागिण विकास। जिसमें मूल्यों के साथ सामाजिक सदभाव और समरसता का भी विकास हो। दुनिया का प्रत्येक व्यक्ति वा मनुष्य ऐसे गुणों से परिपूर्ण हो जिससे उसकी उपयोगिता समाज के विकास के लिए बढ़ जाये। आज हम केवल अपने देश को विकसित देशों की श्रेणी में देखना चाहते है। यह जरूरी है परन्तु सांस्कृतिक विरासत भी होनी चाहिए जिससे एक अच्छा समाज बने। ब्रह्माकुमारीज संस्थान आज पूरी दुनिया में मूल्यों के अपनाने की जो शिक्षा दे रही है वह वाकई में काबिले तारीफ है। यहॉं की व्यवस्था देखने के बाद सहज ही महसूस होने लगता है।

ब्रह्माकुमारीज संस्था की संयुक्त मुख्य प्रशासिका राजयोगिनी दादी रतनमोहिनी ने कहा कि संस्थान का प्रयास एक ऐसा समाज बनाना है जिससे प्रत्येक मुनष्य के अन्दर श्रेष्ठ और सुन्दर गुणों की पराकाष्ठा हो। परमात्मा शिव ने जो शिक्षा दी वह प्रत्येक मनुष्य के लिए जरूरी है। यदि हम इसे जीवन में उतारने का प्रयास करें तो निश्वित तौर पर हमारा देश महान बन जायेगा। शिक्षा प्रभाग के उपाध्यक्ष बीके मृत्युंजय ने कहा कि आज मूल्य आधारित शिक्षा की मांग बढ़ती जा रही है। यही कारण है कि भारत के दस विश्वविद्यालयों में संस्थान द्वारा बनायी गयी मूल्य आधारित शिक्षा पाठयक्रम को पढ़ाया जा रहा है। हमारा प्रयास है कि सभी विश्वविद्यालयों एवं कालेजों में यह शिक्षा लागू कर दी जाये।    

23 4 1

0 39

चम्बा (हिमाचल प्रदेश ) — नॅशनल हाड्रो पावर प्लांट (N . H . PC ) में तनाव मुक्त जीवन विषय पर बोलते हुए ब्रह्माकुमार भगवान भाई माउंट , मुख्य अभियंता श्री विक्रम सिह ,बी के सोनिया बहन , मुख्य अभियंता सिविल श्री राजकमल ,श्रीमती जे के लॉरेन्स ,वरिष्ठ अधिकारी श्रीमती सुनिधि ,ब्रह्माकुमार अशोक और अधिकारीगण

 

 

4 3 2 1 4
Brahmakumaris Relief Team-II visited inner parts of West Nepal Region where nobody has so far
gone because majority of help is being sent to Kathmandu Region thats approx 200 kms away. 
However we wish to inform you that Earthquake has also created havoc in these regions too.
Most of the villages are vanished and there are aftershocks being experienced every day. Until
now this region has experienced around 35 aftershocks of around 4.5 to 5 magnitude. Anybody
who wishes to send help for ” Nepal Earthquake Victims” can contact below : 
 
​​

Brahmakumaris Disaster Management Services

+919414193999 ( Mount Abu Head Quarters)
+919987414422, +919987410009, +919987693011 (Mumbai )
Keep helping our brothers and sisters in Nepal. Om Shanti.

0 55

Jammu : Inaugural session / Candle lighting ” Harmony in Relationship” and ” Karma & Destiny” Bk. Shivani, Hon’ble Chander Prakash Ganga Cabinet Minister for Business & Industries J & K, Hon’ble R. S. Chib Former Minister, Hon’ble Ashwani Sharma Former MLA, Hon’ble Kuldip Khuda IPS Chief Vigilance Commissioner J & K, Hon’ble Rakesh Sharma Inspector General BSF, Sh. Narinder Singh Jamwal DIG BSF, Sh. S. S. Sirangle former Distt. Principle Session Judge Jammu and Bk. Sudershan.

1 2

0 73
It is the matter of great pleasure that a grand Programe on Geeta Gyan and Spiritual Significance of Gita ” Gita Fest- 2015″ was held at Lal pared Ground Bhopal during 24 to 26 April’2015. The Programme was organised in very large scale. The program was conducted in different sessions during the three days. Spiritual material, literatures, audio-visuals were displayed by means of various attractive stalls. Geeta Gyan were also displayed by means of exhibitions by various religious and spiritual organisations.
 
The Program was organised by Shri Narmadehar Seva Nyas and supported by various organisations like: – MP Toursim, Makhanlal Chaturvedi University of Journalism and Communication, Department of Culture M. P. Govt., Rajiv Gandhi Prodogiki Vishwavidyalaya, Bhopal, Centre for Research and Industrial Staff Performance(CRISP).
The Programe was participated by leading religious and Spiritual and other Organisation like: Gayatri Pariwar, ISKON, Brahma Kumaris, OSHO, Chinmaya Mission, Gita Jayanti Singapore, Shri Arbindo Society, Maharshi Mahesh Yogi, Simhastha-2016 etc. 
 
B. K. Avdhesh Didi, Bhopal were specially Invited to deliver the speech on Geeta Gyan and Spiritual Significance of Geeta during the second Day on 25th April 2015 (After Noon Session).
During session Following personalities delivered the lecture on the topic ” Geeta Gyan”
 
1. Sh. Shivraj Singh Chouhan, Chief Minister of M.P.
2. Sh. Satya Nararayan Jatiya, M.P. (Rajya Sabha)
3. Sh. Piyush Trivedi, Vice Chancellor, Rajiv Gandhi Technology University, Bhopal
4.  Sh. Alok Sanjar, Member of Parliament from Bhopal
5. Sh. Prabhu Dayal Mishra, Head Shri Narmadehar Sewa Nyas.